VGP Snow Kingdom|Chennai-Places to Visit|A Hindi Travelogue - Tilted Tripods

यात्रा और फ़ोटोग्राफ़ी की ख़ुराक

Thursday, August 30, 2018

VGP Snow Kingdom|Chennai-Places to Visit|A Hindi Travelogue

क्या चेन्नई में हमेशा बर्फ़बारी होती रहती है ? सुनने में थोड़ा अजीब सा लग रहा होगा पर यह सही है यदि हम चेन्नई स्थित वी जी पी स्नो किंगडम में हों तब | यहाँ हम टब में बैठ कर एक ऊंची बर्फीली फिसलपट्टी से नीचे आयें या किसी इग्लू में छुप जाएँ पर सबसे अधिक आनंद तो बर्फ के गोले बना कर एक दूसरे पर फेंकने में ही है | यहाँ पर बिताया 45 मिनट का समय जीवन भर याद  रह जायेगा  | 

VGP Snow Kingdom

चेन्नई यात्रावृतांत - VGP Snow Kingdom

फरवरी 2016 - द्रुत गति से उड़ता हुआ बर्फ का एक गोला मेरे बाएँ हाथ से टकराया और असंख्य कणों में विभक्त हो कर वातावरण मे विलीन हो गया | मैने पलटकर देखा तो हमारे सुपुत्र अपने दोनो हाथों में बर्फ के गोले बनाकर अगले आक्रमण को मूर्त रूप देने में प्रयासरत थे | फिर तो ऐसे अनेकों पिंड मुझसे टकराते रहे, परंतु मैं भी कहाँ पीछे रहने वालों में से था सो मैने भी अंजुलि भर के बर्फ उसके ऊपर फेंका |

खिलखिलाते हुए वह भागा और मैं भी पीछे- पीछे दौड़ते हुए उसके ऊपर निरंतर हिमवर्षा कराता रहा | यहाँ का तापमान -5 डिग्री था और हिमांक बिंदु से भी नीचे इस वातावरण में वार्तालाप करते समय मुख से निरंतर एक धुआँ सा प्रवाहित होता था | हमारे आभामंडल पर सेब के समान लालिमा व्याप्त थी और हम इस शूलमयी ठंडक को पराजित करने की असफल चेष्टा करते हुए कभी अपने दस्तानों तो कभी कान की टोपी को संयोजित करने में व्यस्त थे | ये दृश्य शिमला या मनाली का नहीं अपितु चेन्नई स्थित वी. जी. पी. स्नो किंग्डम का था | लगभग 14000 वर्ग फुट में फैला हुआ यह अपनी ही तरह का एक अनोखा क्रीड़ा स्थल था जो हिमालय सी अनुभूति देता था |

मैने यहाँ आने से पूर्व ही सायंकाल 06:00 बजे का समय आरक्षित करा लिया था जिसका मुझे लाभ भी मिला मुझे यहाँ पंक्ति मे खड़े होकर टिकट (मूल्य - 350 रु) के लिए प्रतीक्षा नही करनी पड़ी| भीतर जाते ही एक विशाल से प्रतीक्षालय में हम अपनी पारी आने की प्रतीक्षा करने बैठ गये | सामने ही एक काउंटर था जहाँ अंदर जाने से पूर्व आवश्यक शीत रोधक वस्तुएँ जैसे कोट, दस्ताने और जूते इत्यादि लेने थे जिनका अलग से कोई शुल्क नहीं था | हमने भी यहाँ से अपना सब सामान एकत्रित किया और उनको पहनकर मुख्य स्थान पर पहुँच गये | इस स्थान का आनद लेने के लिए हमें 45 मिनट का समय दिया गया था जिसमें से अतिरिक्त 10 मिनट अपने शरीर को यहाँ के वातावरण के अनुकूल करने के लिए दिए गये थे | 
VGP Snow Kingdom

भीतर का वातावरण आश्चर्यजनक रूप से ठंडा था और यहाँ आने के बाद हमें मिली हुई शीत रोधी वस्तुएँ नाकाफ़ी सी लगीं | "यदि साथ में छोटे बच्चे हैं तो यहाँ आने से पूर्व कुछ गर्म कपड़े इन्हें पहनाना आवश्यक है" मैने सोचा | इन सब के विपरीत बालक यहाँ आकर अतिउत्साहित था और तनिक भी हाथ नही आ रहा था | यहाँ पर बच्चों और व्यस्कों के लिए अलग अलग स्लाइड्स थीं, और तो और इनको लुभाने के लिए इगलू, स्लेज, बर्फ में पाए जाने वाले जानवरों की मूर्तियाँ, कृत्रिम पहाड़ियाँ, बर्फ का किला, डांस फ्लोर, फिसलने का स्थान और रंग बिरंगी गेंदों की भी व्यवस्था थी | 4-6 परिचायक यहाँ वहाँ विचरण करते हुए सभी व्यक्तियों की सहायता भी कर रहे थे जो कि यहाँ के उत्तम कार्यप्रणाली का संकेत देती थी | 
Snow Kingdom Chennai

"सर! यौर किड वुड लाइक टू स्लाइड देयर" एक परिचायक ने बर्फ की फ़िसलपट्टी की ओर इशारा करते हुए मुझसे पूछा | मैने बालक से कहा "वहाँ ऊपर से स्लाइड करोगे", तो उसने प्रसन्नता से हामी भर दी | कुछ 10 फुट ऊँचे स्थान से, एक रंगीन ट्यूब मे बैठकर, घूमते हुए तीव्रता से फिसलते हुए नीचे आना मेरे सुपुत्र के लिए एक अनोखा अनुभव था | अनय अत्यंत ही हर्षित था और उसने पुनः इसका आनंद लिया | लगभग 22 फुट ऊँचे व्यस्कों वाले स्लाइड्स से भी हर्षपूर्ण किलकारियों की प्रतिध्वनियाँ निरंतर सुनाई दे जाती थीं | चूँकि आज कोई छुट्टी का दिन नही था सो भीड़ भाड़ कम ही थी | यह हमारे लिए अच्छा ही था क्योंकि हमें सभी राइड्स और वस्तुएँ आसानी से मिल जा रही थीं |

VGP Snow Kingdom chennai

कुछ ही समय पश्चात छत से कृत्रिम हिमवर्षा प्रारंभ हो गयी और इसके साथ ही संगीत और भी कोलाहलपूर्ण हो गया | इन यायावर, श्वेत रूई के फाहों जैसे हिमकणों की उपस्थिति वातावरण में एक अपरिमित, अपारदर्शी धुन्ध का निर्माण कर रही थीं | बर्फ के ढेर के नीचे दबा, छिद्रित कणिकाओं से झाँकता हुआ उपेक्षित सा एक नृत्यमंच यकायक ही अपने आप को स्फूर्तिवान सा अनुभव करने लगा था | इस नृत्यमंच पर घूमती हुई, चमकीली, रंग बिरंगी बत्तियाँ देखकर कुछ का नर्तक मन प्रफुल्लित हो उठा था | क्या बच्चे क्या बड़े सभी इस समय का पूर्णानंद लेने में व्यस्त थे और उनमें एक उन्माद सा व्याप्त था | इस बर्फ़बारी में मेरा कैमरा भी कुछ नही देख सकता था सो मैने उसे पूर्ण विराम दे दिया और इस क्षण का आनंद लेने लगा | तनिक ठंड का भी एहसास हो चला था सो हमने यहाँ से विदा लेने का सोचा | 

बाहर आकर हमने शीत रोधक वस्त्र यथास्थान जमा किए और मद्रास कॉफ़ी हाउस में गर्मागर्म कॉफ़ी की चुस्कियाँ लेने बैठ गये | "ये तो अच्छा है कि इतनी ठंड के बाद बाहर निकलते ही चाय-कॉफ़ी की दुकान है नहीं तो लोगों का क्या होता", एक घूँट लेने के बाद प्लेट पर कप को रखते हुए मैने सोचा | "ये इतनी बरफ लाते कहाँ से हैं और ये बर्फ़बारी....जाने कैसे करते हैं", श्रीमति जी ने प्रश्न का एक तीर मेरी ओर छोड़ा | "ये सब विज्ञान की महिमा है", मैने कहा और कॉफ़ी ख़त्म की, फिर आगे बोलना प्रारंभ किया|

"भीतर पूरे क्षेत्र की दीवारें तापवरोधक (इन्सुलेटेड) वस्तुओं से बनी है जिससे अंदर की ठंड बाहर ना जा सके और बाहर की गर्मी भीतर ना आ सके जैसा किसी रेफ्रिजरेटर मे होता है वैसा ही | एयर कंडीशनर की तरह से ही कई सारे ब्लास्ट कूलर रहते हैं जो अंदर का तापमान -1 से -3 डिग्री सेंटीग्रेड रखते हैं | ज़मीन पर पड़ी हुई मोटी बर्फ की परत के नीचे भी ग्लाइकॉल की ट्यूब रहती है जैसा पुराने रेफ्रिजरेटर के पीछे हुआ करता था और यह बर्फ का तापमान भी यथावत रखे हुए इसे ठोस अवस्था में रखता है | अब बात आती है बर्फ बनाने की जिसके कई तरीके हैं पर अधिक गहराई में ना जाते हुए, यह पानी और हवा के मिश्रण से तैयार होती है | केमिकल रहित शुद्ध पानी को ठंडे चिलर से गुज़रा जाता है फिर इस पानी को संपीडित वायु के साथ मिश्रित करते हैं जिससे छोटे छोटे हिमकणों का निर्माण होने लगता है जिसे न्यूक्लीयेशन कहते हैं | फिर इस मिश्रण को ठंडे वातावरण में नोज़ल के द्वारा प्रक्षेपित किया जाता है और ज़मीन पर आते आते यह पूरी तरह से बर्फ में बदल जाता है, समझ में आया " मैने मुस्कुराते हुए अपनी कथा समाप्त की | 

श्रीमति जी ने अतिसूक्ष्मता से उत्तर दिया, "कुछ कुछ" | "मुझे पूरा समझ आ गया, पार्श्व से बालक की आवाज़ आई | "तुम्हे बड़ा समझ आ गया", हम हंसते हुए बोले | 

साढ़े सात हो चुके थे और दिन भर की थकावट सर चढ़कर बोल रही थी | मैंने ड्राईवर को को फोन किया और हम यहाँ से विदा हो लिए | 

कुछ जानकारियाँ 


  • वी जी पी स्नो किंगडम ईस्ट कोस्ट रोड स्थित वी जी पी यूनिवर्सल  किंगडम के निकट ही है और चेन्नई के सभी हिस्सों से  जुड़ा हुआ है | यहाँ बस, टैक्सी, ऑटो द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है | 
  • यह सुबह 10:00 से रात 08:00 बजे तक खुला रहता है और 07:00 बजे तक भीतर जाया जा सकता है |
  • अभी यहाँ टिकट का दाम 495/445 रु वयस्कों/बच्चों के लिए है | बर्फ में उपयोगी  मोजे, जूते, जर्किन और दस्ताने इसी मूल्य में शामिल हैं।
  • यहाँ 45 मिनट का कुल समय भीतर रहने के लिए मिलता है जिसमे लगभग 10 मिनट अपने शरीर को इस वातावरण के अनुकूल करने के लिए दिए जाते हैं | 
  • छोटे बच्चों के लिए अलग से गर्म कपड़े ले जाने की सलाह दी जाती है ख़ास कर अन्दर के वस्त्र | 
  • कई बार टिकट के लिए लम्बी कतार हो जाती है इसलिए इनकी वेबसाइट से ऑनलाइन बुकिंग की सलाह दी जाती है | इसके अलावा तयं समय से लगभग 15 मिनट पहले यहाँ आना चाहिए ताकि हम लॉकर और गर्म कपड़े समय से ले सकें | 
  • क्लिक आर्ट, लाइव आर्ट और विंटेज कैमरा म्यूजियम जाना न भूलें  |ये आस पास ही हैं और इनके कॉम्बो टिकट भी वेबसाइट से लिए जा सकते हैं | 

No comments:

Post a Comment